मनोविकास विशेष शिक्षा महाविद्यालय, उज्जैन द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के 9 वर्ष पूर्ण होने पर कचरा मुक्त भारत कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसके अन्तर्गत दिनांक 30.09.2023 को भारतीय पुनर्वास परिषद, नई दिल्ली के निर्देशानुसार दिव्यांजनों विशेषकर महिलाओं और लड़कियों की स्वच्छता विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
प्रथम सत्र में प्रमुख वक्ता के रूप मे डॉ. रश्मि शर्मा और सुश्री प्रियंका शर्मा, प्रसूति विशेषज्ञ, पुष्पा मिशन उपस्थित रही। प्रमुख वक्ताओं द्वारा बी.एड. एवं डी.एड. विशेष शिक्षा की महिला प्रशिक्षाणार्थियों को सम्बोधित किया गया। जिसमें माहवारी, गर्भधारण एवं व्यक्तिगत स्वच्छता के विषय में जानकारी दी गई। डॉ. रश्मि र्श्मा द्वारा सभी प्रशिक्षणार्थियों की प्रश्नों का उत्तर दिया गया।
कार्यशाला में शिक्षक प्रशिणार्थियों हेतु कचरा मुक्त भारत संबंधी नारा लिखो, पोस्टर निर्माण और अनुपयोगी वस्तुओं से उपयोगी वस्तुओं सम्बन्धित प्रतियोगिता का आयोजन किया जिसमें लगभग 50 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रतिभाग किया जिसमें नारा प्रतियोगिता में क्रमशः रेखा पंथी, पूजा जोशी, चम्पा ने प्रथम,द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया। पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में क्रमश मोना इक्का, सामकी मलिक और रंजना निनामा प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय रही। ‘बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट’ प्रतियोगिता में क्रमशः मोना इक्का, दिव्या चौहान प्रथम एवं द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रेखा पंथी, मृनालिनी रही।
शैक्षणिक निदेशिका डॉ. प्रेम छाबड़ा, शैक्षणिक निदेशिका, मनोविकास महाविद्यालय ने अपने उद्बोधन में कहा हम सभी को स्वच्छता सम्बन्धी हर छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखना चाहिए तथा अपने दैनिक आदत में शामिल करना चाहिये जिससे विभिन्न रोगों से बचा जा सकता है, विशेषकर दिव्यांग बालिकाओं को व्यक्तिगत स्वच्छता विषय में जागरूक करना चाहिए। इस प्रकार के कार्यक्रम सुनिश्चित कर हम दिव्यांगजनों में जागरूकता लाने का सफल प्रयास कर सकेंगे।
कार्यक्रम के अन्त में विजेता प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित कर प्रोत्साहित किया गया। कार्यक्रम समन्वयक सुश्री विद्या भारती, सहायक प्राध्यापक, मनोविकास महाविद्यालय थी एवं कार्यक्रम में सभी का आभार श्रीमती मंजूषा डे, सहायक प्राध्यापक, मनोविकास महाविद्यालय ने माना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *